Homeक्राइमदहेज के लोभियों ने महिला को मारा-पीटा किया लहू लुहान

दहेज के लोभियों ने महिला को मारा-पीटा किया लहू लुहान

धारा लक्ष्य समाचार

ललितपुर । हमारे भारतवर्ष में है कहीं ना कहीं हमारी बहू- बेटियां माताएं कहीं ना कहीं दहेज के लोभियों से प्रताड़ित जलाई और अत्याचार हो रहे हैं। फिर भी उनके परिवार वाले अधिकतर आवाज नहीं उठाती बूढ़े- बुजुर्ग परिवार वाले ऐसी बातों को दबा दिया करते हैं। जिससे दहेज के लोभियों का मनोबल हमेशा बड़ा होता है। अगर समय रहते दहेज लोभियों का मनोबल कुचल दिया जाएगा तो फिर अधिकतर ऐसी घटनाएं घटित नहीं होगी। बल्कि ऐसी घटनाओं पर विराम लग जाएगा लेकिन हमारे भारत में दहेज लोभियों के हौसले बुलंद हैं, और बहू बेटियों को फांसी के द्वारा जलाकर अन्य साधनों से हत्याएं करवा दी जाती हैं, और फिर भी कुछ ले देकर मामला को रफा- दफा कर दिया जाता है। आखिर भारत में ऐसी घटनाओं पर विराम कब लग पाएगा। मामला मध्य प्रदेश का आया है। लड़की का नाम अर्चना जो कि पेशे से एक ग्रहणी है। उसकी शादी 6 वर्ष पूर्व टीकमगढ़ थाना क्षेत्र मध्य प्रदेश में मोहल्ला बुध विहार कॉलोनी ठोंगा में निवासी मनीष अहिरवार पिता गोकुल प्रसाद से मेरी शादी हुई थी । शादी के बाद एक बच्चे के जन्म लेने के बाद से ही दहेज के लिए मानसिक व शारीरिक रूप से प्रताड़ित करने लगे तथा पति मनीष की मां और पिता गोकुल प्रसाद और उनकी बहनों ने दो बार आग लगाने की कोशिश की जिससे मैं बाहर निकाल कर जान बचाई है। दहेज में पांच लाख रुपए एवं नई बाइक की मांग करने लगे। प्रत्न की होती रही इस इंतजार से कहीं पति मान ले लेकिन इसके बावजूद पति के रवैए में कोई सुधार नहीं हुआ। बल्कि वह मेरी गंदी वीडियो बनाने में वायरल करने की धमकी देता है। अर्चना ने शिकायत पत्र लिखकर थाना प्रभारी महिला पुलिस को अवगत कराया एवं अपना दुःख बताया। अर्चना ने बताया मुझे जान से मारने की कोशिश की मेरी गर्दन दवाई तथा मुझे चाकू से मारा जिसका निशान आज भी मेरे शरीर पर है। बीते शुक्रवार को विरोध करने पर मेरी गर्दन दबाकर मारपीट किया जिससे जिसके निशान मेरी गर्दन पर अभी हैं अर्चना ने मांग की कि मामले की जांच कर आरोपियों पर त्वरित कार्यवाही की जाए एवं न्याय की गुहार लगाई है। आज भी हमारे भारत में माताएं बहनें सभी बेवस कहीं ना कहीं कोई माता बहने दहेज के लोभियों द्वारा आज भी प्रताड़ित की जा रही हैं दुर्भाग्य की बात है ऐसे मामलों को दबाने में लड़की के घर वालों का हाथ होता है कहते हैं घर बस जाने दो चाहे लड़की की जिंदगी क्यों बर्बाद ना हो जाए। बाद में ऐसी लड़कियां या तो आत्महत्या कर लेती हैं या फिर दहेज की लोभियों द्वारा जला दी जाती हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular