Homeक्राइमधनराशि निकालने के बावजूद नहीं शुरू हुआ काम, सरकारी उदासीनता को देखकर...

धनराशि निकालने के बावजूद नहीं शुरू हुआ काम, सरकारी उदासीनता को देखकर भी अंजान बने हुए हैं जिम्मेदार

धारा लक्ष्य समाचार पत्र

त्रिवेदीगंज (बाराबंकी)। सरकारी धन हड़प करने के लिए लोग तरह-तरह के हथकण्डे अपनाते हैं, वहीं इस पूरे भ्रष्टाचार के खेल में सरकारी कर्मचारी प्रथम पंक्ति में नजर आते हैं। शासन से मिले धन को हड़प करने के लिए षड़यंत्र भी रचे जाते हैं और इस षड़यंत्र में जिम्मेदारों को भी शामिल कर लिया जाता है ताकि कार्यवाही होने पर आसानी से बचा जा सके।
प्राप्त जानकारी के अनुसार पीएमश्री योजना के तहत शासन से मिला धन खाते से निकल गया और मौके पर एक ढेला काम भी नहीं हुआ। शिकायत पर शिक्षा विभाग के अधिकारियों ने जांच के निर्देश दिए हैं। त्रिवेदीगंज ब्लॉक क्षेत्र में शासन की पीएमश्री योजना के तहत मोहम्मदपुर ग्राम पंचायत के धौरहरा संविलियन विद्यालय का चयन बीते वित्तीय वर्ष में हुआ था। प्री-प्राइमरी कक्ष, लाइब्रेरी, साइंस लैब, स्मार्ट क्लासरूम व खेल सामग्री आदि के लिए योजना से 14 लाख रुपये स्वीकृत किए गए हैं। निर्माण कार्य के लिए प्रथम किस्त के तीन लाख 49 हजार 750 रुपये विद्यालय के खाते में भेजे गए थे जिससे प्री-प्राइमरी कक्ष का निमार्ण होना है। धन मिलने पर शिक्षा विभाग के इंजीनियर ने मौके पर कक्षा के नक्शा के अनुसार नींव खोदने के लिए निशानदेही की थी।इसके बाद बैंक खाता का संचालन करने वाली इंचार्ज अध्यापक पद्मावती ने शिक्षा समिति अध्यक्ष से हस्ताक्षर कराकर निर्माण सामग्री आपूर्ति करने वाली फर्म के नाम चेक काट दी। इसके बाद विद्यालय के बैंक खाते से धन निकाल लिया गया। एक माह बीतने के बाद भी मौके पर कोई काम शुरू नहीं हुआ है।

RELATED ARTICLES

Most Popular