Homeक्राइमरेंजर,फारेस्टर से सांठगांठ करके जेबें भर रहे लकड़ी ठेकेदार, हरियाली पर फिर...

रेंजर,फारेस्टर से सांठगांठ करके जेबें भर रहे लकड़ी ठेकेदार, हरियाली पर फिर चला आरा नीम,शीशम पेड़ बने निशाना

सीतापुर से जावेद कासिम की रिपोर्ट

धारा लक्ष्य समाचार

मिश्रित सीतापुर। प्रदेश की योगी सरकार द्वारा जहा एक ओर वृक्षारोपण को लेकर अभियान चलाया जा रहा है। साथ ही लोगों को वृक्ष लगाने के लिए प्रेरित भी किया जा रहा है। परंतु योगी सरकार के आदेशों को पलीता लगाते हुए मिश्रित वन रेंज मे तैनात रेंजर दिनेश गुप्ता,फारेस्टर डिंपल शर्मा के संरक्षण में लकड़कट्टों द्वारा औषधीय वृक्ष नीम पर लगातार आरा चलाकर धार्मिक क्षेत्र से हरियाली समाप्त की जा रही है। सूत्रों के अनुसार कस्बा आंट के पास स्थित मीरापुर के निकट एक बड़ी भारी बाग जिसमे लगभग एक सैकड़ा आम,नीम,शीशम, जामुन,गूलर के हरे भरे पेड़ खड़े थें। जिसमें नीम,शीशम पेड़ों की संख्या अधिक थी। रातों रात ठेकेदार आढ़ती नजर द्वारा आरा चलाकर पूरी बाग को विरान कर दिया गया। वही कस्बा मिश्रित मे स्थित संजीवनी क्लीनिक के मालिक की बाग का होना बताया जा रहा है। इस संबंध मे जब रेंजर गुप्ता से जानकारी ली गई। तो उन्होंने पुराना रटा रटाया उत्तर कुछ पेड़ों का परमिट है।

अगर नीम पेड़ कटे है तो अभी दिखवाता हूं कहकर बात खत्म कर दी। सूत्रों का यह भी दावा है कि बाग का सौदा 5 लाख 80 हजार मे ठेकेदार ने किया था। जिससे अंदाजा लगाया जा सकता है। कि कितना रुपया ठेकेदार द्वारा वन विभाग के जिम्मेदारों को कमीशन मे दिया गया है। हैरानी की बात यह है कि रेंजर,फारेस्टर को सूचना दी जाती है। कि अवैध कटान चल रहा है। फिर भी वह कोई कार्रवाई आखिर क्यों नही करतें। जिससे यह पूरी तरह बात साफ दिखाई देती है, कि पूरी दाल ही भ्रष्टाचार मे काली है,तो फिर कार्रवाई कौन करेगा। धार्मिक क्षेत्र की जनता लगातार हरियाली समाप्त होती देख अब कारवाई के लिए जनप्रतिनिधियों से शिकायत दर्ज कराने की बात कह रही है। देखना है कि जन प्रतिनिधि कहा तक कारवाई कराते है। जिससे यह क्षेत्र रेगिस्तान होने से बच सके।

RELATED ARTICLES

Most Popular