Homeदेश - विदेशमुख्य चिकित्सा अधिकारी जांच होगी, जांच होगी कहते-कहते थक जाएंगे

मुख्य चिकित्सा अधिकारी जांच होगी, जांच होगी कहते-कहते थक जाएंगे

धारा लक्ष्य समाचार

ललितपुर। मोहम्मद इम्तियाज अहमद जनपद में कई जांचें चल रही हैं जैसे की फर्जी प्रैक्टिस कर रहे डॉक्टर के ऊपर भी जांच कमेटी तीन डॉक्टर अधिकारियों की टीम गठित की गई थी, टी.वी. हॉस्पिटल में सुपरवाइजर के ऊपर भी जांच टीम गठित की गई थी, जिला अस्पताल में खून का सौदा करने वालों के खिलाफ भी जांच टीम गठित की गई थी, ललितपुर में कई जगह अस्पतालों में कमियां है उन पर भी जांच टीम गठित की गई है, डॉक्टर पर्ची पर लिख रहे बाहर की दवाइयां इस पर भी जांच टीम, अस्पताल में नहीं मिले चिकित्सक कक्ष में लटके ताले, स्वास्थ्य विभाग में सामग्री खरीद में खेल जिला अधिकारी ने तालाब की रिपोर्ट, बगैर चिकित्सक और फार्मासिस्ट के चल रहा अस्पताल, सीएचसी तालबेहट मरीजों पर भारी पड़ रही चिकित्सकों की लापरवाही, डॉक्टर नदारत ,वार्ड बॉय कर रहे मरीजों का उपचार, डॉक्टर और अन्य कर्मियों के समय से अस्पताल न पहुंचने की जांच, पीएचसी में वार्ड बॉय कर रहा मरीजों का उपचार, न्यू पीएचसी गोंना में डॉक्टर ना फार्मासिस्ट, जिला अस्पताल का हाल ना चला जनरेटर और ना काम आया इन्वर्टर बिजली गुल टोर्च की रोशनी में चेक्स कौन है देख मरीज, धौररा सीएससी पर डॉक्टर ना जांच की सुविधा मरीज परेशान, सीएससी बार दवा के लिए घंटे करना पड़ रहा इंतजार, पेशाब करने को नहीं दिए रुपए तो प्रसूता और नवजात को जमीन पर लिटाया जनपद ललितपुर डॉक्टर इम्तियाज अहमद मुख्य चिकित्सा अधिकारी अनेक जांचों का दावा कर रहे है क्या समय रहते सभी जांचों में कसा जाएगा ऐसे कर्मचारी और डॉक्टर पर शिकंजा जो समय रहते अनेक नियमों की धज्जियां उड़ा रहे हैं और करते नहीं है किसी भी अधिकारी की परवाह। सूत्रों के मुताबिक संविदा चाहे वह कर्मचारी हो या फिर डॉक्टर हो सभी के ऊपर मुख्य चिकित्सा अधिकारी का आशीर्वाद होने के कारण उन्हें अपने केंद्र पर नहीं जाना पड़ता वह A.C. की हवा में मस्त रहते हैं मरीज की हालात चाहे जो भी हो आखिर ऐसे डॉक्टरों की संविदा पर नियुक्तियां मरीज के इलाज के लिए की जाती हैं ना की आराम करने के लिए कई संविदा कर्मचारी और डॉक्टर मुख्यालय ही नहीं छोड़ना चाहते आखिर ऐसे कर्मचारी और डॉक्टर को वेतन किस बात का दिया जाता है। महिला अस्पताल में भी मामला उजागर हुआ था तो दवा दिया गया है समय रहते अनेक मामलों को भी दवा दिया जाएगा क्योंकि पब्लिक सब जानती है कहां लेना है और कहां देना है सब मामले ठंडे बस्ते में नजर आ रही है। आखिर किसी भी अधिकारी और कर्मचारियों पर कड़ी कानूनी कार्यवाही मुख्य चिकित्सा अधिकारी द्वारा क्यों नहीं की जाती यह भी राज की बात है क्योंकि यह भी मुख्य चिकित्सा अधिकारी का …. का स्रोत बना हुआ है। आखिर मुख्य चिकित्सा अधिकारी ऐसे डॉक्टरों और कर्मचारियों को कब तक संरक्षक दिए रहेंगे। जांच तो चलती हैं और अधिकारी और पब्लिक भी जाती जानती है जांच किस प्रकार चलाई जाती हैं और इनका अंत किस प्रकार होता है। कुछ जांचे स्वत: समय रहती पूरी हो जाती है और कुछ जांच जांच का बहाना करके चलती ही रहती हैं।

RELATED ARTICLES

Most Popular