Homeधर्मचौरासी कोसी परिक्रमा हरदोई जनपद से सीतापुर पहुंची, द्रोणाचार्य घाट पर हुआ...

चौरासी कोसी परिक्रमा हरदोई जनपद से सीतापुर पहुंची, द्रोणाचार्य घाट पर हुआ स्वागत

धारा लक्ष्य समाचार रिपोर्ट जावेद कासिम सीतापुर

मिश्रिख ब्लाक के देवगवां में छठे पड़ाव पर होगा रात्रि विश्राम,

धारा लक्ष्य समाचार

सीतापुर। विश्व प्रसिद्ध 84 कोसी परिक्रमा पड़ोसी जनपद हरदोई में चारों पड़ावों की परिक्रमा करते हुए। आज शनिवार की सुबह जनपद सीतापुर की सीमा में पुनः दाखिल हो गई। दधनामऊ गोमती नदी पर स्थित द्रोणाचार्य घाट पर थानाध्यक्ष पिसावां ओमवीर सिंह, कुतुबनगर पुलिस चौकी प्रभारी शिव बहादुर सिंह सहित क्षेत्र के गणमान्य लोगों ने परिक्रमा मेला समिति अध्यक्ष नन्हकू दास, महंत संतोष दास खाकी सहित अन्य संत महात्माओं का माल्यार्पण कर स्वागत किया। इस घाट की मान्यता यह है, कि कहा जाता है द्रोणाचार्य जी ने यहा निवास भी किया था।

रामादल के क्षेत्र मे पहुंचते ही हर हर महादेव, सीताराम,जय श्री राम के नारों से गुंजायमान हो उठा।भजन कीर्तन गाते बजाते झूमते हुए राम भक्त छठे पड़ाव की ओर बढ़ते जा रहे थे,वही कुछ साधु संत हाथी, घोड़ा,गाड़ी पर भी सवार थे। इस पड़ाव पर गुड़,भूनें चना प्रसाद के रूप मे वितरित किया जाता है,कहा जाता है कि कटोरे मे यह प्रसाद वितरण की परंपरा हजारों वर्षों से होती चली आ रही है। क्षेत्र के दधनामऊ, मधुबना लोहारखेड़ा,जमुनियां अर्थापुर गांवों मे रामादल मे चल रहें लाखों की संख्या मे भक्तों के लिए भंडारों का आयोजन किया गया। जिसमें कढ़ी चावल,पूरी सब्जी आदि का वितरण हुआ। वही विगत वर्षों की भाति मुस्लिम समुदाय के लोगों ने भी रामादल के लिए भंडारे का आयोजन

करके उन्हें प्रसाद वितरित किया। जिसमें कुतुबनगर गढ़ी निवासी अज़हर शाह, कोटेदार शब्बू हसन सहित अन्य मुस्लिम समुदाय के लोग शामिल हुए। आज रात्रि मे देवगवां पडाव स्थल पर परिक्रमार्थी भजन कीर्तन करते हुए विश्राम करेंगे व अगले दिन भोर होते ही सातवें पडांव के लिए निकल पड़ेंगे। मेले मे सुरक्षा व्यवस्था को लेकर पिसावां पुलिस पूरी तरह मुस्तैद दिखाई दे रही थी।

बाक्स

परिक्रमा कर रहे मध्यप्रदेश के भिंड जिला निवासी सुभाष पुत्र रामाशर्मा का कुतुबनगर मे निधन हो गया, जानकारी के अनुसार उन्हें उल्टी हो रही थी, तबियत तेजी से बिगड़ी और उनका देहांत हो गया

RELATED ARTICLES

Most Popular