Homeपुलिसअवैध शराब एवं शस्त्रों व मादक पदार्थों के परिवहन तथा असामाजिक तत्वों...

अवैध शराब एवं शस्त्रों व मादक पदार्थों के परिवहन तथा असामाजिक तत्वों की गतिविधियों को रोकने की बनाई गई कार्ययोजना

लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2024 के दृष्टिगत हरियाणा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के अधिकारियों के साथ अन्तर्राज्यीय समन्वय बैठक हुई आयोजित

सीमावर्ती क्षेत्र में बरती जाए विशेष चौकसी, अधिकारी एक दूसरे से रखे समन्वय

सीमावर्ती क्षेत्रों पर कैमरा, बेरीकेटिंग करते हुए प्रभावी चैकिंग की जाए

धारा लक्ष्य समाचार
सहारनपुर।
भारत निर्वाचन आयोग के निर्देशों के क्रम में लोक सभा सामान्य निर्वाचन-2024 के दृष्टिगत जनपद से लगने वाली सीमाओं पर कानून व्यवस्था व शान्ति व्यवस्था बनाये रखने के उद्देश्य से जिला मजिस्ट्रेट व जिला निर्वाचन अधिकारी की अध्यक्षता में कलक्ट्रेट स्थित नवीन सभागार में हरियाणा, उत्तराखंड और हिमाचल प्रदेश के अधिकारियों के साथ अन्तर्राज्यीय समन्वय बैठक का आयोजन किया गया, *जिला निर्वाचन अधिकारी डॉ0 दिनेश चंद्र ने बताया कि आगामी लोकसभा चुनाव में अन्तर्राज्यीय सीमा पर किसी प्रकार के अवैध शराब, अवैध शस्त्रों व मानक पदार्थों के परिवहन तथा असामाजिक तत्वों की गतिविधियों को रोकने की प्रभावी कार्यवाही के लिए इस बैठक का आयोजन किया गया। बैठक में उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड, हरियाणा, हिमाचल के अधिकारियों ने शांतिपूर्वक चुनाव संपन्न कराने की तैयारियों पर चर्चा की। उन्होने कहा कि स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव की प्रक्रिया हो यही हमारा उद्देश्य है।उन्होने निर्देश दिए कि यह जनपद अन्य राज्यों की सीमा से सटे होने के कारण संवेदनशील है। इसलिए सीमाओं पर विशेष चौकसी बरती जाए। सीमावर्ती क्षेत्रों पर कैमरा, बेरीकेटिंग करते हुए प्रभावी चैकिंग की जाए। राज्यों की सीमाओं पर नाकाबंदी कर चेकिंग अभियान चलाया जाए।डॉ0 दिनेश चंद्र ने सभी राज्यों के पुलिस-प्रशासनिक अधिकारियों से कहा कि वह हर सूचना एक-दूसरे को साझा करें। ताकि असामाजिक और शरारती तत्व पर कड़ी नजर रहे और वो गड़बड़ी न कर पाएं। इसके साथ ही शराब तस्करी सहित अन्य अपराधों में लिप्त गिरोह पर आवश्यक कार्यवाही की जाए। संवेदनशील और अति संवेदनशील इलाकों को चिह्नित कर लिया जाए। जिला बदर किए गए अपराधियों की सूची पड़ोसी राज्यों के पुलिस-प्रशासनिक अधिकारी एक दूसरे के साथ साझा करें। चारों राज्य के अधिकारी संयुक्त रूप से तालमेल बैठाकर आवश्यक कार्रवाई करें। सभी प्रदेशों की सीमाओं पर उप जिलाधिकारी एवं पुलिस क्षेत्राधिकारी आपसी समन्वय रखें। राज्यों के बॉर्डर पर लगातार बैरियर लगाकर चेकिंग की जाए। उन्होंने सभी राज्यों के अधिकारियों एवं पुलिसकर्मियों से एक-दूसरे का सहयोग करने की बात कही। इस अवसर पर अखिल पिलानी एडीसी करनाल, आयुष सिंह एडीसी यमुनानगर, वरिष्ठ पुलिस अधीक्षक डॉक्टर विपिन ताड़ा, अपर जिलाधिकारी प्रशासन डॉक्टर अर्चना द्विवेदी, अपर जिलाधिकारी वित्त एवं राजस्व रजनीश कुमार मिश्र,अपर जिलाधिकारी प्रशासन हरिद्वार पीएल शाह, एसपी यमुना नगर गंगाराम पुनिया, एसपी क्राइम हरिद्वार पंकज गैरोला, डीएसपी करनाल हरियाणा गुरमीत सिंह, सिटी मजिस्ट्रेट गजेंद्र कुमार,तहसीलदार पौंटा साहिब फरीद अहमद सहित समस्त उप जिलाधिकारी उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular