Homeप्रदेशबर्बाद हुई फसलों का मुआवजा एवं बीमा क्लेम अविलम्ब किसानों के खातों...

बर्बाद हुई फसलों का मुआवजा एवं बीमा क्लेम अविलम्ब किसानों के खातों में भेजा जाए।

झांसी धारा लक्ष्य समाचार


पंचमपुरा में विगत 15 दिनों से फूंके हुए दोनों ट्रांसफार्मरों को 24 घण्टे में बदल कर विधुत आपूर्ति की जाए।
उत्तर प्रदेश किसान कांग्रेस के प्रदेश अध्यक्ष शिव नारायण सिंह परिहार के नेतृत्व में आज जनपद झांसी के ग्राम पंचमपुरा में किसानों की ज्वलंत समस्याओं को लेकर विशाल किसान पंचायत आयोजित हुई।जिसमे समस्याओं को लेकर किसान जिम्मेदारों पर खूब गरजे समस्याओं का निराकरण न होने पर आंदोलन की दी चेतावनी। पंचायत में प्रमुख रूप से 2 मार्च को हुई भयंकर ओलावृष्टि बे मौसम बारिश के चलते किसानों के गांव में लगभग 900 एकड़ में बोई चना मटर राई गेहूं मसूर की फसले सत प्रतिशत नष्ट हो गई है बर्बाद फसलों का मुआवजा बीमा क्लेम दिलाए जाने। दूसरी समस्या गांव में लगे एक 100 केवी के ट्रांसफार्मर और एक 65 केवी का ट्रांसफार्मर विगत 2 मार्च को बारिश ओला वृष्टि के चलते फुंक गया था जिससे लगातार 15 दिनों से पूरा गांव अंधेरे में डूबा है दोनों ट्रांसफार्मर को 24 घंटे में बदलवाए जाने हेतु आज किसानों ने जिम्मेदारों के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। किसानों ने पंचायत में बारी-बारी से अपनी बर्बादी की कहानी सुनाई किसानों ने कहा साहब इस कमर तोड़ महंगाई में हम लोगों ने साहूकारों से कर्ज लेकर अपने अपने खेतों में महंगी खाद महंगा बीज लेकर खेतों की जुताई बुवाई करके खेतों में चना मटर राई गेहूं मसूर की फसले बोई थी फसल बोने के बाद लगातार चार महीने रात दिन अन्ना जानवरों से फसलों की रखवाली की ठंड हो चाहे गर्मी हो खेत पर ही पड़े रहे और जब हमारी फसले तैयार हुई फसल जब कटाई पर आ गई उसी समय भगवान हम लोगों से रूठ गए और 15 दिन पहले इतना भयंकर लगभग ढाई सौ ग्राम के ओले गिरे जिससे हमारे गांव के सभी किसानों की फसले 100% बर्बाद हो गई जानवरों के लिए भूसे का प्रबंध मुश्किल हो गया है,और इस समय हम लोगों पर रोजी-रोटी का भरण पोषण का बच्चों की पढ़ाई का दवाई इलाज का बच्चों की शादी ब्याह का संकट खड़ा हो गया है कैसे हम लोग अपना जीवन यापन करेंगे,हमारे गांव में साहब कोई किसान ऐसा नहीं बचा जिसकी फसल बर्बाद ना हुई हो हमारे गांव में क्षेत्रीय जनप्रतिनिधियों और शासन प्रशासन के अधिकारी आए हम लोगों को आश्वासन दिया लेकिन अभी तक 15 दिन बीत जाने के बाद भी हमारे गांव में किसी भी किसान के पास कोई राहत राशि नहीं आई और ना बीमा क्लेम आया। किसानों ने बताया साहब 2 मार्च से गांव में लगे हुए दो ट्रांसफार्मर फुंक जाने से हमारा गांव 15 दिन से अंधेरे में डूबा है जिसकी शिकायत हमने बिजली विभाग के अधिकारियों से की लेकिन किसी भी अधिकारी ने हमारी नहीं सुनी हम लोग 15 दिन से अंधेरे में जीवन यापन कर रहे हैं किसानों ने पंचायत में कहां अगर 24 घंटे में हमारे गांव के फूके हुए दोनों ट्रांसफार्मर नहीं बदले जाते तो विद्युत विभाग मऊरानीपुर का घेराव करेंगे। पंचायत में उपस्थित सभी किसानों ने योगी सरकार से मांग की है कि हमारी गरीबी बदहाली पर सरकार तरस खाए और हम सभी किसानों का कर्ज माफ करें क्योंकि अब तो दो वक्त की रोटी के लाले पड़ गए हैं साथ में जो हमारे ऊपर कर्ज है उसकी सरकारी वसूली पर रोक लगा दे । कांग्रेस नेता शिव नारायण सिंह परिहार ने किसानों की पीड़ा सुनकर कहा जनपद झांसी के किसान खास तौर पर पंचमपुर के किसान इस समय कुदरत की मार से बेहाल है हताश निराश है फसल बर्बादी ने किसानों को तोड़ कर रख दिया है

किसान खून के आंसू रो रहा है भाजपा सरकार जिला प्रशासन अविलंब किसानों के खातों में मुआवजा राशि एवं बीमा क्लेम भेजा जाए, परिहार ने कहा विद्युत विभाग की तानाशाही गुंडई के चलते पंचमपूरा की लगभग 1200 की आबादी 15 दिनों से अंधेरे में डूबी है अगर 24 घंटे में दोनों फूके हुए ट्रांसफार्मर नहीं बदले जाते तो विद्युत विभाग मऊरानीपुर का घेराव किया जाएगा।
पंचायत के दौरान फोन के माध्यम से उप जिला अधिकारी गोपेश तिवारी जी से किसानो की वार्ता कराई गई जिस पर उनको अवगत कराया गया कि बर्बाद फसलों का ना तो अभी फसल का मुआवजा और न बीमा क्लेम, मिला है। और 15 दिनों से फूंका हुआ ट्रांसफार्मर भी नहीं बदला गया जिस पर उप जिला अधिकारी गोपेश तिवारी जी ने किसानों की पीड़ा सुनते हुए किसानों को आश्वासन दिया है कि बहुत जल्द मुआवजा किसानों के खाते में शासन द्वारा भेजा जाएगा कोई किसान परेशान ना हो। पंचायत के दौरान प्रमुख रूप से लल्लू राम पटेल प्रहलाद पटेल राम नारायण पटेल प्रभु दयाल बुनकर रामचरण अहिरवार पहलवान रामलाल घनाराम रघुवीर पंखी लाल जितेंद्र रोशन कमलाराम चेतराम दिनेश बृजलाल प्रेमचंद अरविंद पटेल गोविंद दास पटेल बृजेंद्र कमलापत नरेंद्र जमुना प्रसाद विश्वकर्मा डालचंद पटेल राधेलाल पटेल शगुन लाल पटेल रघुनाथ अहिरवार दीने अहिरवार महीपत सियाराम महीपत बुनकर भागवत नारायण रावत रामदास अहिरवार जितेंद्र गया प्रसाद पटेल नारायण बुनकर किशोरी जगमोहन खरे लालू लाडले अहिरवार हरिमोहन खरे जुगल किशोर पटेल आशीष पटेल प्यारेलाल बेधड़क रामेश्वर आत्माराम मथुरा प्रसाद तिजू अहिरवार थोबन लाल गनपत लाल भागीरथ रविंद्र राजू बालकिशुन मंनधाई रानू बृजमोहन रविंद्र श्याम करण नवल किशोर कमलेश राकेश जवाहर नृपेन्द्र हरदयाल पाल रामदीन बरार मुन्नालाल बरार हरिश्चंद्र अहिरवार मूलचंद इंद्रपाल अहिरवार मूलचंद लखनलाल पुष्पेंद्र पटेल संजय रावत चंद्रशेखर रावत शत्रुघ्न पटेल राजेंद्र प्रसाद सुनील कुमार पटेल जय नारायण कृपाराम छेदीलाल मोहनलाल भोपाल सिंह पटेल गोरी बाई मीरा देवी पन्नालाल देवकी गजराज सहित सेकड़ो किसान उपस्थित रहे।

RELATED ARTICLES

Most Popular